Max Born Biography in Hindi |Google पर मैक्स बोर्न का Doodle

Max Born Biography in Hindi: Google के Doodle की वजह से हमें महान कलाकार, वैज्ञानिक की जानकारी मिलती है. आज भी Google ने जर्मन के भौतिक विज्ञानी और गणितज्ञ (Physicist and Mathematician) Max Born की 135 वें जन्मदिन पर खास doodle बनाया है. Max Born बारे में आजके Max Born Biography इस लेख में जाननेवाले है.

Max Born Biography

मैक्स बोर्न (Max Born) जर्मन के विज्ञानी और गणितज्ञ (Physicist and Mathematician) क्षेत्र के महान वैज्ञानिक थे. उन्हें Quantum Mechanics के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए जाना जाता है और इसी योगदान की वजह से उन्हें नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. 11 December 2017 को उनका 135 वा जन्मदिन होने के कारण google ने उन्हें doodle बनाकर याद किया है. हम भी उन्हें उनके योगदान के लिए सलाम करते है.

Read Also: Homai Vyarawalla biography in Hindi | होमी व्यारावाला

Max Born Biography in Hindi

मैक्स बोर्न (Max Born) का जन्म यहूदी परिवार में 11 दिसंबर 1882 को जर्मन के Breslau (अब Wrocław, Poland) शहर में हुआ था. उनके पिता का नाम गुस्तव बोर्न, माँ का नाम मार्गारेथे ग्रेचेन कौफमैन और छोटी बहन का नाम कॅथे (Kathe) था. गुस्तव University of Breslau में embryology (भ्रूणविज्ञान) के professor थे. मैक्स बोर्न चार साल के थे तब उनके माँ का देहांत हुआ था. उसके बाद उनके पिता ने दूसरी शादी की थी. मैक्स बोर्न को एक वुल्फगैंग नाम का सौतेला भाई भी था. मैक्स बोर्न ने 1903 में Hedwig (Hedi) Ehrenberg से शादी की,उसके बाद मैक्स और हेडविग ने दो लडकियों और एक लड़के को जन्म दिया था.

Read Also: Robert Koch biography | रॉबर्ट कोच का गूगल डूडल

मैक्स ने शुरुआत की शिक्षा König-Wilhelm-Gymnasium में पूरी की और 1901 में University of Breslau में प्रवेश लिया. उसके बाद मैक्स ने University of Göttingen में Ph.D. की थी. मैक्स बोर्न (Max Born) University of Göttingen में Ph.D. पूरी करने के बाद वही पर theoretical physics के professor बन गए. मैक्स उस समय के सबसे प्रसिद्ध वैज्ञानिकों के साथ सहयोग कर रहे थे और उन्हें सलाह देते रहे. 1933 में उन्हें जर्मनी से भाग कर इंग्लैंड में जाना पड़ा, मैक्स University of Edinburgh में 1954 तक Natural Philosophy के professor रहे और बाद में Göttingen लौट आये. 1954 में Born Rule – एक क्वांटम सिद्धांत जो क्वांटम सिस्टम में लहर कणों के स्थान की भविष्यवाणी करने के लिए गणितीय संभावना का उपयोग करता है, इस सिद्धान्त के लिए उन्हें Nobel Prize देकर सम्मानित किया. मैक्स बोर्न (Max Born) इस महान Physicist and Mathematician का 5 जनवरी 1970 को 87 साल की उम्र में निधन हुआ.

हमारे Youtube चैनल को subscribe करना ना भूले.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: