Homai Vyarawalla biography in Hindi | होमी व्यारावाला

Homai Vyarawalla biography in Hindi: नमस्कार दोस्तों हमारे website को visit देने के लिए बहूत बहूत धन्यवाद. आज आप Google की homepage को visit करते है तो आपको एक ख़ास Doodle देखने को मिलेगा. वो Doodle होमी व्यारावाला (Homai Vyarawalla) जी का है.आज उनका जन्मदिन है उसी मौके पर हम आपको इस लेख में Homai Vyarawalla की biography और work Hindi में बतानेवाले है.

homai vyarawalla images

Google ने इस साल खास भारतीय महिलाओं को doodle बनाकर याद किया है. भारत की पहली महिला फोटोग्राफर होमी व्यारावाला (Homai Vyarawalla) जी का 9 दिसम्बर 2017 को 104 वा जन्मदिन है. इसी मौके पर google ने उन्हें खास Doodle बनाकर याद किया है. चलिए होमी व्यारावाला (Homai Vyarawalla) के बारे में जानते है.

Read Also: Rukhmabai in Hindi

Homai Vyarawalla biography in Hindi

होमी व्यारावाला (Homai Vyarawalla) जी का जन्म 9 दिसंबर 1913 को गुजरात के नवसारी जिले में पारसी परिवार में हुआ था. उनका बचपन गुजरात में गया लेकिन बाद में उनके पिता की थिएटर company होने के कारण से उन्हें मुंबई में shift होना पड़ा था. मुंबई में आने के बाद उन्होंने J. J. Arts of School में फोटोग्राफी की शिक्षा पूरी कर के degree हासिल की. (homai vyarawalla husband) उन्होंने अपने मित्र मानेकशा जमशेतजी व्यारावाला से शादी की जो Times of india में acountant और फोटोग्राफर थे.

Read Also: आज का google doodle: Cornelia Sorabji in Hindi

होमी व्यारावाला (Homai Vyarawalla) जी ने 1938 में फोटोग्राफी के विश्व में अपना पैर रखा और भारत की पहली महिला फोटोग्राफर बनी. उस ज़माने में कैमरा एक चमत्कार माना जाता था. होमी जी पहली महिला फोटोग्राफर बनने के साथ साथ उस ज़माने की मशहूर महिला फोटो पत्रकार (Photojournalist) भी थी. उनकी पहली तस्‍वीर Bombay Chronicle में प्रकाशित हुई थी. प्रकाशित हुई हर एक तस्वीर के लिए होमी व्यारावाला (Homai Vyarawalla) जी को एक रुपया मेहनताना मिलता था. दुसरे विश्‍व युद्ध के बाद, उन्‍होंने The Illustrated Weekly of India magazine के लिए काम करना शुरू किया जो 1970 तक चला.

होमी व्यारावाला जी ने अपने फोटोग्राफी के career में भारत के महत्वपूर्ण राजनीतिक अवसर पर काफी तस्वीरे खिंची थी. उन्होंने देश के बंटवारे के वोट के समय की बैठक के अवसर पर तस्वीरे ली थी. 16 अगस्त 1947 को लाल किले पर पहली बार लहराया तिरंगा, Lord Mountbatten ने भारत छोड़ा, महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और लाल बहादुर शास्त्री की अंतिम यात्रा की भी तस्वीरें ली है.

उन्होंने 1970 में पति के मृत्यु के बाद फोटोग्राफी पेशे को छोड़ दिया और 1973 को वड़ोदरा के छोटे से apartment में रहने चली गयी. सन 2011 को उन्हें भारत सरकार ने पद्म विभूषण से सम्मानित किया. भारत की पहली महिला फोटोग्राफर होमी व्यारावाला का देहांत 98 साल की उम्र में 2012 को वडोदरा में हुआ.

Read Also: Google Doodle: Hole Punch history in Hindi

आपको आजका हमारा लेख पसंद आया है to जरुर comment करके हमें बताये. Facebook और Twitter पर follow करना ना भूले, धन्यवाद.

Leave a Comment

%d bloggers like this: