Net Neutrality Kya Hai | Net Neutrality in hindi

Net Neutrality Kya Hai

Net Neutrality Kya Hai | Net Neutrality in Hindi

Net Neutrality Kya Hai: Hello friends welcome back, आपने काफी बार net neutrality ये शब्द internet पर देखा और सुना होगा. आपके मन में ये सवाल आया होगा की ये Net Neutrality Kya Hai?. आपके इस सवाल का जवाब हम इस लेख में देनेवाले है. चलिए Net Neutrality के बारे में जानते है.

Net Neutrality Kya Hai ?

Read Also: Free Wifi का कैसे पता करे? | How to Find free WiFi in Hindi

Net neutrality को हम internet neutrality या network neutrality भी कहते है. इस शब्द का हिंदी में अर्थ होता है नेट तटस्थता. इस शब्द का सबसे पहले Columbia University के professor Tim Wu ने इस्तेमाल किया था. नेट तटस्थता इस concept का मतलब है की हर एक internet user को एक सामान रूप से किसी भी website को visit करने की पूरी आजादी हो. Net neutrality का मकसद है, दुनिया के हर एक internet का इस्तेमाल करनेवाले users के साथ User, content, website, forum, access, Connected device के अनुसार कोई भी भेदभाव ना हो और हर एक को internet data को access करने की एक समान आजादी हो. इसीके साथ internet service provider(ISP) और Government को internet data को सामान मान कर अलग अलग website के लिए अलग data plan नहीं रखने चाहिए.

क्‍या है Net Neutrality का फायदा

Read Also: How to Screen mirroring android to tv | हिंदी में जानकारी

Net Neutrality की वजग से आप internet use करने के लिए पूरी तरह से आझाद है. किसी भी website को कही भी और एक सामान speed से access कर सकते है. आपको हर अलग website, app के लिए अलग data pack डालने की जरुरत नहीं होती. internet चलने के लिए आपको एक data plan की fee के अलावा कोई अलग fee नहीं देनी पड़ती है.

Net Neutrality खत्‍म होने से क्‍या नुकसान होगा

Read Also: इंस्टाग्राम कैसे डिलीट करे|How to Delete Instagram Account in hindi

जरा सोचिए अगर अलग अलग website के लिए अलग charge होगा तो users और नए website developers का कितना नुकसान हो सकता है. मान लीजिए एक बड़ी website है और ISP इसका access free में देने लगे तो आप सिर्फ उसी को access करेंगे और हमारी tophunt.in कितनी भी अच्छी information आपको दे लेकिन अलग charge की वजह से आप यहाँ पर नहीं visit करेंगे. इसकी वजह से काफी सारे bloggers और website काम करना छोड़ देंगे. user भी अपनी मन पसंद website पर अलग charge और speed की वजह से नहीं जा पाएंगे.

Airtel ने कुछ दिनों पहले 0 plan में कुछ websites free में access करने का मौका दिया था. इस वजह से लोग airtel ने free access दिए हुए shopping websites पर ही shopping करना पसंद करते थे बाद में विरोध होने की वजहसे  इसे बंद कर दिया गया. facebook का internet.org भी net neutrality के खिलाफ किया गया project था, लेकिन भारत में हुए विरोध के बाद उसे ban किया गया.

अगर भारत में Net neutrality ख़त्म हो जाती है तो हमारी data आझादी खत्म हो जाएगी और ISP अपने मन के अनुसार website visit करेने के charges लगाएंगे.

आजका हमारा लेख “Net Neutrality Kya Hai | Net Neutrality in hindi” कैसे लगा जरुर comment करे और ऐसे ही नयी जानकारी के लिए हमारे साथ Facebook पर बने रहे.

 

Ajinkya S

I am interested in writing blogs in Hindi. i passionate about blogging and youtube. i love post writing about technology.

Leave a Reply

Close Menu
%d bloggers like this: